Ruthi hui stri ka vashikaran रूठी हुई स्त्री का वशीकरण मन्त्र

Ruthi hui stri ka vashikaran रूठी हुई स्त्री का वशीकरण मन्त्र

“मोहिनी माता, भूत पिता, भूत सिर वेताल। उड़ ऐं काली ‘नागिन’ को जा लाग। ऐसी जा के लाग कि ‘नागिन’ को लग जावै हमारी मुहब्बत की आग। न खड़े सुख, न लेटे सुख, न सोते सुख। सिन्दूर चढ़ाऊँ मंगलवार, कभी न छोड़े हमारा ख्याल। जब तक न देखे हमारा मुख, काया तड़प तड़प मर जाए। चलो मन्त्र, फुरो वाचा। दिखाओ रे शब्द, अपने गुरु के इल्म का तमाशा।”

विधि- मन्त्र में ‘नागिन’ शब्द के स्थान पर स्त्री का नाम जोड़े। शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से 8 दिन पहले साधना प्रारम्भ करे। एक शान्त एकान्त कमरे में रात्रि मे १० बजे शुद्ध वस्त्र धारण कर कम्बल के आसन पर बैठे। अपने पास जल भरा एक पात्र रखे तथा ‘दीपक’ व धूपबत्ती आदि से कमरे को सुवासित कर मन्त्र का जप करे। ‘जप के समय अपना मुँह स्त्री के रहने की स्थान / दिशा की ओर रखे। एकाग्र होकर घड़ी देखकर ठीक दो घण्टे तक जप करे। जिस समय मन्त्र का जप करे, उस समय स्त्री का स्मरण करता रहे। स्त्री का चित्र हो, तो कार्य अधिक सुगमता से होगा। साथ ही, मन्त्र को कण्ठस्थ कर जपने से ध्यान केन्द्रित होगा। इस प्रयोग में मन्त्र जप की गिनती आवश्यक नहीं है। उत्साह-पूर्वक पूर्ण संकल्प के साथ जप करे, सफलता जल्दी ही आपके कदम चूमेगी और कितनी भी कठोर ;दिल क्यों ना हो आपकी और खींची चली आएगी
यदि आप यह करने में असमर्थ हो या जल्दी समाधान चाहते तो हमसे संपर्क करे !

Advertisements

8 thoughts on “Ruthi hui stri ka vashikaran रूठी हुई स्त्री का वशीकरण मन्त्र

  1. Namste Guruji.. Mera Nam Bhagyashri he me marathi ladki hu or gaon me rahti hu.. mere ghar ke samne pinki Gharate nam ki shadishuda orat he jise uske pati ne use chod diya he quki ki o buri orat he ..o orat uske pita Raghu Gharate uski ma sarla gharate or uski Fraind Alka Nikam ko sath milkar muje bhot pareshan krti he..mere pahli koi dushami nhi thi pr mera acche hone pr bevajah o irsha krti he.. mere sath mere Aai Papa ko bhi irsha krte he jalte he…. gaon me ladki ki ijjat hi mata pita ki phchan hoti he or vo log bevjah ijjat pr dag lagati he or gaon me hamare bare me logo ko bura batati he.. bahar niklne pr o gundo ki tarah samne behtkar hasti he majak krti he…. me unse bahot parehan hu.. kahi bhi dhyan nhi lagta …. me hamesha unko ignor krti hu par man hi man pareshan rhti hu ab to vo jyada pareshan krte he meri shadi tah huhi he… muje he bhi dar lagta ki …o mere jindgi n brbad kr de mere shadi me problem dalkar koi vighn n aae.. muje or mere parivar ko un bure logo se chutkara chaiye….plz help me Guruji

    Like

  2. Meri wife jitna mujhse pyaar karti thi aaj usse kahi jyada nafratkarti hai aap kuch aisa karein ki woh mere se pehle ki traah pyaar karne lag jaye

    Like

      1. Guru ji mere sadi ko 2 saal ho gye hai par mere or mere waif ke bech me bhut gagda hota hai kuch upay btaye

        Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s