नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे युटुब चैनल वशीकरण गुरु में आज की हमारी वीडियो धनतेरस से संबंधित हैं। क्या करे जिस से सालो साल लक्ष्मी जी का वास आपके घर पर बना रहे। तो चलिए जानते हैं की धनतेरस के दिन धन की वर्षा कैसे करे।

वीडियो को Like, share and subscribe  करना न भूले।

यह त्योहार दीपावली आने की पूर्व सूचना देता है। हमारे देश में सर्वाधिक धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार दीपावली का प्रारंभ धनतेरस से हो जाता है। इसी दिन से घरों की लिपाई पुताई प्रारंभ कर देते हैं। दीपावली के लिए विभिन्न वस्तुओं की खरीद आज से की जाती है। इस दिन से कोई किसी को अपनी वस्तु उधार नहीं देता हैं। इस के उपलक्ष में बाजारों में नए बर्तन वस्तु दीपावली पूजन हेतु लक्ष्मी-गणेश, खिलौने, खिला-बताशे तथा सोने-चांदी के जेवर आदि भी खरीदे जाते हैं। धार्मिक व ऐतिहासिक दृष्टि से भी इस दिन का विशेष महत्व है। आज ही के दिन आयुर्वेदिक चिकित्सक पद्धति के जन्मदाता धन्वंतरि वैद्य समुद्र से अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे। इसलिए धनतेरस को “धनवंतरी जयंती” भी कहते हैं। इसलिए वैध हकीम और ब्राह्मण समाज आज धन्वंतरी भगवान का पूजन कर धन्वंतरी जयंती मनाते हैं।

इस दिन वैदिक देवता यमराज का पूजन किया जाता है। पूरे वर्ष में एकमात्र यही वह दिन है जब मृत्यु के देवता यमराज की पूजा की जाती है। यह पूजा दिन में नहीं की जाती है अपितु रात्रि होते समय यमराज के निर्मित एक दीपक जलाया जाता है। इस दिन यम के लिए आटे का दीपक बनाकर घर के मुख्य द्वार पर रखा जाता है। इस दीप को जमदीवा अर्थात यमराज का दीपक कहा जाता है। रात को घर की स्त्रियां दीपक में तेल डालकर नई रुई की बत्ती बनाकर, 4 बतिया जलाती है। दीपक की बत्ती दक्षिण दिशा की ओर रखनी चाहिए। जल,  रोटी,  चावल, गुड़, नैवेध आदि सहित दीपक जलाकर स्त्रियाँ यम का पूजन करती है। क्योंकि यह दीपक मृत्यु के नियंत्रक देव यमराज के निर्मित चलाया जाता है अतः दीप जलाते समय पूर्व शरदा से उन्हें नमन तो करें ही साथ ही यह भी प्रार्थना करें कि वह आपके परिवार पर दया दृष्टि बनाए रखें। और किसी की अकाल मृत्यु ना हो शास्त्रों में इस बारे में कहा है कि जिन परिवारों में धनतेरस के दिन यमराज के निमित्त दीपदान किया जाता है वहां अकाल मृत्यु नहीं होती।

लीजिए अब जानते हैं कि धनतेरस के दिन क्या उपाय करें

जिससे सालों साल तक लक्ष्मी जी का वास आपके घर पर बना रहे धनतेरस के दिन सांयकाल के समय एक ही का दीपक जलाएं और एक तांबे के कलश को पानी से भरकर उसमें एक चांदी का सिक्का उसमें डाल दें उसके बाद गुरु जी के द्वारा दिए गए मंत्र का जाप करें ऐसा करने से आपके घर में लक्ष्मी जी का वास सदा के लिए बना रहेगा अगर यह उपाय आप हर साल करेंगे तो आपके ऊपर लक्ष्मी जी का वास सदा के लिए बना रहेगा।