प्रेमी-प्रेमिका वशीकरण मंत्र (Premi Premika Vashikaran Mantra)

‘कामाख्‍या देश कामाख्‍या देवी,
जहां बसे इस्‍माइल जोगी,
इस्‍माइल जोगी ने लगाई फुलवारी,
फूल तोडे लोना चमारी,
जो इस फूल को सूँघे बास,
तिस का मन रहे हमारे पास,
महल छोडे, घर छोडे, आँगन छोडे,
लोक कुटुम्‍ब की लाज छोडे,
दुआई लोना चमारी की,
धनवन्‍तरि की दुहाई फिरै।’
”किसी भी शनिवार से शुरू करके 31 दिनों तक नित्‍य 1144 बार मंत्र का जाप करें तथा लोबान, दीप और शराब रखें, फिर किसी फूल को 50 बार अभिमंत्रित करके स्‍त्री को दे दें। वह उस फूल को सूँघते ही वश में हो जाएगी।”

प्रेमी-प्रेमिका वशीकरण मंत्र (Premi Premika Vashikaran Mantra)

 

Advertisements

खोया हुआ प्यार को वापिस पाने का उपाय

                                                                खोया हुआ प्यार को वापिस पाने का उपाय
जीवन में कई बार ऐसा लगने लगता है कि आपके साथी की रूचि प्यार में और आप में कम हो गई है। ऐसे समय में निराश होने की बजाय कुछ सामान्य टोटके भी आजमा सकते हैं। यह ऐसे टोटके हैं जिन्हें प्राचीन काल से आजमाया जाता रहा है।

केला में गोरोचन मिलाकर लेप बनाएं। इस लेप को सिर पर लगाएं। माना जाता है कि ऐसा करने से व्यक्ति में आकर्षण शक्ति आ जाती है। नारियल, धतूरे के बीज, कपूर को पीस लें। इसमें शहद मिलाएं। नियमित इसका तिलक करने से जिसे आप प्यार करते हैं वह आपको छोड़कर नहीं जाता है।

पति की रूचि पत्नी में कम हो गयी हो तो दोनों साथ भोजन करें और भोजन के समय चुपके से पत्नी पति के खाने में अपनी थाली से थोड़ा भोजन रख दे। इससे पति फिर से पत्नी में रूचि लेने लगता है।
ज्योतिषशास्त्र का सिद्धान्त है कि जो ग्रह शुभ फल नहीं दे रहे हैं उनका शुभ फल पाने के लिए उन्हें आकर्षित करके अपने लिए शुभ बनाना चाहिए। इसके लिए ज्योतिषशास्त्र में कई उपाय बताए गये हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार प्रेम और सेक्स का कारक शुक्र ग्रह है और प्रेम के देवता कामदेव हैं।

बहुत से ज्योतिषी बताते हैं कि, अगर व्यक्ति किसी को अपनी ओर आकर्षित करना चाहता है या अपनी सेक्स पावर बढ़ाना चाहता है तो उसे शुक्र एवं कामदेव को प्रसन्न करना चाहिए। इसके लिए कई ज्योतिषी शुक्र और कामदेव के मंत्र जप करने की सलाह देते हैं।

कामदेव मंत्र
‘ऊँ कामदेवाय विद्महे, रति प्रियायै धीमहि, तन्नो अनंग प्रचोदयात्।’ इस मंत्र के जप से दांपत्य जीवन में प्रेम बढ़ता है और सुयोग्य जीवनसाथी प्राप्त होता है। कामदेव का एक शाबर मंत्र है ‘ऊँ नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहा।’ माना जाता है कि इस मंत्र के जप से व्यक्ति में आकर्षण और सेक्स क्षमता बढ़ती है।

शुक्र मंत्र
ओम द्राँ द्रीँ द्रौँ स: शुक्राय नम:।

खोया हुआ प्यार को वापिस पाने का उपाय

संतान प्राप्ति के उपाय Totke For Baby Child

 

* वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसे प्रमुख दोष बताये गए है जिनके कारण संतान की प्राप्ति नहीं होती या वंश वृद्धि रुक जाती है | इस समस्या के पीछे की वास्तविकता..क्या है इसका शास्त्रीय और ज्योतिषीय आधार क्या है ये आप अपनी जन्म कुंडली के द्वारा जानकारी प्राप्त कर सकते है … इसके लिए आप हरिवंश पुराण का पाठ या संतान गोपाल मंत्र का जाप करे

* पति-पत्नी दोनों सुबह स्नान कर पूरी पवित्रता के साथ इस मंत्र का जप तुलसी की माला से करें।

संतान गोपाल मंत्र :-
———————

” ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ।”

* इस मंत्र का बार रोज 108 जाप करे और मंत्र जप के बाद भगवान से समर्पित भाव से निरोग, दीर्घजीवी, अच्छे चरित्रवाला, सेहतमंद पुत्र की कामना करें।

* अपने कमरे में श्री कृष्ण भगवान की बाल रूप की फोटो लगाये या लड्डू गोपाल को रोज माखन मिसरी की भोग अर्पण करे.

* कई बार प्रायः देखने में आया है की विवाह के वर्षो बाद भी गर्भ धारण नहीं हो पाता या बार-बार गर्भपात हो जाता है, ज्योतिष में इस समस्या या दोष का एक प्रमुख कारण पति या पत्नी की कुंडली में संतान दोष अथवा पितृ दोष हो सकता है या घर का वास्तुदोष भी होता है, जिसके कारण गर्भ धारण नहीं हो पाता या बार-बार गर्भपात हो जाता है

पुत्र प्राप्ति का गणपति  मंत्र :-
——————————-

श्री गणपति की मूर्ति पर संतान प्राप्ति की इच्छुक महिला प्रतिदिन स्नानादि से निवृत होकर एक माह तक बिल्ब फल चढ़ाकर इस मंत्र की 11 माला प्रतिदिन जपने से संतान प्राप्ति होती है।

‘ॐ पार्वतीप्रियनंदनाय नम:’

—————————————————-

पुत्र प्राप्ति के कुछ उपाय:—–

* यदि कन्या के बाद पुत्र कि कामना हो तो ये प्रयोग करें – उत्पन्न हुई कन्या का विदिवत पूजन करें | उसे नमस्कार करें और बन्धु – बांधवों को खीर एवं जलेबी का भोजन कराए | ऐसा करने से भविष्य में पुत्र अवस्य होता हैं |

* जिस स्त्री के पहली संतान लड़का हो, उस लड़के कि नाल जो नि: संतान स्त्री खोलती हैं, वह अवस्य ही पुत्र रत्न से विभूषित होगी |

* पीपल का वृक्ष जिस शमी के उपर उग रहा हो, उस वृक्ष के नीचे जाकर पति – पत्नी दोनों अपनी मनोकामना प्रकट करते हुए वृक्ष का स्पर्श व् प्रणाम कर यह संकल्प करे कि ” गर्भाधान होने तथा पुंसवन के पश्चात जब पुत्ररत्न की प्राप्ति होगी, तब ‘मुंडन – संस्कार ‘ यहीं पर आक की छाया में बैठकर कराएगे | इस टोटके को करने से बंध्या स्त्री भी पुत्र – रत्न को प्राप्त कर लेती हैं |

*  पुष्य नक्षत्र में असगन्ध की जड़ को उखाड़कर गाय के दूध के साथ सिल पर पीसकर पीने से दूध का आहार, ऋतुकाल के उपरांत शुद्ध होने पर पीते रहने से, स्त्री की पुत्र प्राप्ति की अभिलाषा अवस्य पूरण हो जाती हैं |

*  पलाश (टेशू) के पांच कोमल पत्ते किसी स्त्री के दूध में पीसे और जो बांझ स्त्री मासिक धर्म के चोथे दिन स्नान करके उसे खा लेगी, वह निश्चय हैं पुत्र की माता बनने का सोभाग्य प्राप्त करती हैं | ताकतवर और गोरे पुत्र के लिए गर्भवती स्‍त्री को पलाश के एक पत्‍ते को लेकर पीसकर गाय के दूध के साथ रोज पीना चाहिए।

संतान प्राप्ति के उपाय Totke For Baby Child

Mantra For Money धन प्राप्ति के लिए

अगर आपका धन किसी वयक्ति फर्म या किसी कंपनी में या  कही अटका हुआ है और वापिस नहीं आ रहा ! धन प्राप्ति के लिए इस मंत्र का प्रयोग दी गयी विधि से करे आपको शीघ्र ही धन की प्राप्ति होगी

Mantra :- 
“ॐ नमः कर घोर-रुपिणि स्वाहा”
विधिः उक्त मन्त्र का जप प्रातः 11 माला देवी के किसी सिद्ध स्थान या नित्य पूजन स्थान पर करे। रात्रि में 107 मिट्टी के दाने लेकर किसी कुएँ पर तथा सिद्ध-स्थान या नित्य-पूजन-स्थान की तरफ मुख करके दायाँ पैर कुएँ में लटकाकर व बाँएँ पैर को दाएँ पैर पर रखकर बैठे। प्रति-जप के साथ एक-एक करके 107 मिट्टी के दाने कुएँ में डाले। ग्यारह दिन तक इसी प्रकार करे। यह प्रयोग शीघ्र आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए है।

लक्ष्मी प्राप्ति यन्त्र :- 

Mantra For Money धन प्राप्ति के लिए